Har Desh Mein Gunjega Ab Ya Rasool Allah Lyrics In Hindi

...

Title : Har Desh Mein Gunjega Ab Ya Rasool Allah

Category : Naat Lyrics

Writer/Lyricist : Various/Unknown,

Naatkhwan/Artist : Hafiz Tahir Qadri

Added on : 06 May, 2022

Views : 267

play_arrowWatch On Youtube

translateSelect Lyrics Language:

हम सर पे कफन बांधे मैदान में निकले हैं
बातिल के महलों को हम ढाने निकले हैं

हिम्मत है हमे टोको दम है तो हमें रोको
हम नार ऐ रिसलात को फहलाने निकले हैं

हर देस में गुंजेगा अब या रसूल अल्लाह
हर शक पुकारेगा अब या रसूल अल्लाह

हम सारी दुनिया में हलचल सी मचांगे
सरकार के आशिक है रंग अपना जमांगे

मिलाद ए नबी करना ये खून में शामिल है
क्या मिशन की कतर हम दिन रात लगाएंगे?

सरकार की नातों से पुर जोश है दीवाने
मिलाद की महफिल में महल बनेगा

क्यूं करना मनाएं हम ये सुन्नी शकफत है
मिलाद मनाने पर सरकार जगदंगे

सौदा ना करेंगे हम ईमान ना बेचेंगे
नामुस ए रिसालत पर दुनिया को हिलादंगे

हर नसल का नारा है हर कौम का नारा है
क्या नारे से लोगो को आप में मिला देंगे

इस्लाम जो मजाब है पेगम ए मोहब्बत है
क्या आमन के परचम को हर घर में जगदंगे

सरकार की इज्जत पर मरना है हम लोग
ये वादा हमारा है सब कुछ ही लुटेंगे

हम ने यही थानी है मन्नत यही मणि है
क्या देस की मत्ती पर खून अपना बहेंगे

है आल ए नबी प्यारे आशाब सितारे हैं
दोनो की मोहब्बत को हम दिल में बसेंगे

आए हैं उजागर संग अमजद ओ ताहिर भी
पेघम ए नबी देंगे अहमम ए खुदाडेंगे

हम सर पे कफन बंधे मैदान में निकले हैं
बातिल के महलों को हम पहनने निकले हैं

हिम्मत है हम तोके बांध है तो हमें रोको
हम नार ई रिसलात को पहलाने निकले हैं

हर देस में गुंजेगा अब या रसूल अल्लाह
हर शक पुकारेगा अब या रसूल अल्लाह

हम सारी दुनिया में हलचल सी मचांगे
सरकार के आशिक है रंग अपना जमांगे

मिलाद ए नबी करना ये खून में शामिल है
क्या मिशन की कतर हम दिल रात लगाएंगे

सरकार की नातों से पुर जोश है दीवाने
मिलाद की महफिल में महल बनेगा

क्यूं करना मनाएं हम ये सुन्नी सक़फत है
मिलाद मनाने पर सरकार जगदंगे

सौदा ना करेंगे हम ईमान ना बेचेंगे
नामस ए रिसलात पर दुनिया को हिला देंगे

हर नसल का नारा है हर कौम का नारा है
क्या नारे से लोगो को आप में मिला देंगे

इस्लाम जो मजाब है पेगम ए मोहब्बत है
क्या आमन के परचम को हर घर में जगदंगे

सरकार की इज्जत पर मरना है हम लोग
ये वादा हमारा है सब कुछ ही लुटेंगे

हम ने यही थानी है मन्नत यही मणि है
क्या देस की मत्ती पर खून अपना बहेंगे

है आल ए नबी प्यारे आशाब सितारे हैं
दोनो की मोहब्बत को हम दिल में बसेंगे

आए हैं उजागर संग अमजद ओ ताहिर भी
पेघम ए नबी देंगे अहमम ए खुदाडेंगे

Custom Widget

Subscribe Newsletter

Please enter valid name.
Please enter valid email address.
We'll only send you awesome content. Never spam.